Take a fresh look at your lifestyle.

बलात्काराचा निकाल देताना न्यायाधीशांनी ऐकवली कविता; ज्यामुळे संपूर्ण देशाच्या डोळ्यात आले पाणी, वाचा संपूर्ण प्रसंग आणि ‘ती’ कविता

राजस्थानमधील झुंझुनू जिल्ह्यातील कोर्टरूम.

Advertisement

कोर्टमध्ये बलात्काराच्या घटनेची कारवाई सुरू होती. एका 22 वर्षीय युवकावर 3 वर्षाच्या मुलीवर बलात्कार केल्याचा आरोप आहे. न्यायाधीश नीरजा दधीच यांनी हा निर्णय सुनावत आरोपींना शिक्षा केली.

Advertisement

The Criminal Law Amendment Act, 2018 नुसार 12 वर्षाखालील मुलींचे लैंगिक शोषण केल्यास फाशीची शिक्षा होऊ शकते. गुन्ह्याच्या 29 दिवसांत आरोपीला फाशीची शिक्षा सुनावण्यात आली. आरोपी विनोदने एका छोट्या मुलीचा रेप केला होता.

Advertisement

वाचा, संपूर्ण कविता :-

Advertisement

वो मासूम नाज़ुक बच्ची, एक आंगन की कली थी,

Advertisement

वो मां-बाप की आंखों का तारा थी, अरमानों से पली थी.

Advertisement

जिसकी मासूम अदाओं से मां-बाप का दिन बन जाता था,

Advertisement

जिसकी एक मुस्कान से आगे पत्थर भी मोम बन जाता था.

Advertisement

वो मासूम बच्ची ठीक से बोल नहीं पाती थी,

Advertisement

दिखा के जिसकी मासूमियत उदासी भी मुस्कान बन जाती थी.

Advertisement

जिसने जीवन के केवल तीन बसंत देखे थे, उस पर ये अन्याय हुआ,

Advertisement

ये कैसे विधि की लेखी थी? एक 3 साल की बेटी पर ये कैसा अत्याचार हुआ?

Advertisement

एक बच्ची को दरिंदों से बचा न सका, ये कैसे मुल्क़ इतना लाचार हुआ?

Advertisement

उस बच्ची पर कितना ज़ुल्म हुआ, वो कितना रोई होगी मेरा ही कलेजा फट जाता है तो मां कैसे सोई होगी?

Advertisement

जिस मासूम को देख के मन में प्यार उमड़ आता है,

Advertisement

देखा उसी को मन में कुछ की हैवान उतर के आता है

Advertisement

कपड़ों के कारण होते रेप जो कहे, उन्हें बतलाऊं मैं,

Advertisement

आख़िर 3 साल की बच्ची को साड़ी कैसे पहनाऊं मैं?

Advertisement

गर अब भी ना सुधरे तो एक दिन ऐसा आएगा,

Advertisement

इस देश को बेटी देने से भगवान भी घबराएगा”

Advertisement

संपादन : विनोदकुमार सूर्यवंशी

Advertisement

कृषीरंग | ताज्या बातम्यांसाठी फॉलो करा www.krushirang.com

Advertisement

| वेबसाईट | फेसबुक पेज | जिओ न्यूज एक्स्प्रेस | गुगल न्यूज | AMP | ट्विटर | व्हाट्सऍप | टेलिग्राम | सिग्नल | 

Advertisement

मो. 9503219649

Advertisement

ईमेल : krushirang@gmail.com

Advertisement

Advertisement

Leave a Reply