Take a fresh look at your lifestyle.

पत्रकार महिलेबाबतची ‘तीही’ बातमी निघाली खोटी; पहा काय होता शेतकरी आंदोलकांवर आरोप

प्रजासत्ताक दिनाच्या पार्श्वभूमीवर दिल्लीत पोलिसांचा चोख बंदोबस्त असतानाही शेतकरी आंदोलनास हिंसक वळण लागले. त्यावेळी आयोजित ट्रॅक्टर रॅलीबाबत अनेक उलटसुलट व खऱ्या-खोट्या बातम्या येत आहेत. त्यात एका पत्रकार महिलेशी कोणीतरी वाईट पद्धतीने वागल्याच्या बातम्या शेअर होत होत्या. मात्र, त्या बातम्या खोट्या असल्याचे स्पष्ट झालेले आहे.

Advertisement

ट्रॅक्टर रॅलीचे वार्तांकन करताना आजतक वृत्तवाहिनीच्या पत्रकार नवज्योत रंधावा यांच्याबाबत ही पोस्ट आणि काही कंटेंट शेअर केला जात होता. मात्र, संबंधित पत्रकार तरुणीने अशी कोणतीही घटना घडली नसल्याचे म्हटले आहे. www.altnews.in यांनी याबाबत वास्तव स्पष्ट करणारी बातमी प्रसिद्ध केली आहे.

Advertisement

Alt News Hindi on Twitter: “आजतक की ऐंकर नवज्योत रंधावा के नाम पर एक फ़र्ज़ी कहानी शेयर की जा रही है. दावा है कि ट्रैक्टर रैली के दौरान एक मुस्लिम शख्स ने उनके साथ बदसलूकी की. नवज्योत ने ऑल्ट न्यूज़ को बताया कि सोशल मीडिया पर किया जा रहा दावा बेबुनियाद है. | @ArchitMeta https://t.co/yWv4kHQw8u” / Twitter

Advertisement

ये नवज्योत रंधावा हैं, आजतक चैनल में एंकर हैं. आप शायद इन्हें पहचानते भी होंगे. 26 जनवरी पर किसानों की ट्रैक्टर रैली को कवर करने के लिए सिंघु बॉर्डर गई थीं. वहाँ पर एक सिख युवक इनके पीछे पड़ गया. सिंघु बॉर्डर से वो लालक़िले आ गईं तो पीछे-पीछे वह युवक भी लालक़िले आ गया. यहाँ पर आकर उसने छेड़खानी शुरू कर दी. नवज्योत रंधावा सिख हैं. उन्होंने अपने साथ छेड़खानी की शिकायत लालक़िले पर प्रदर्शन में शामिल कुछ सिख युवकों से कर दी. उन्होंने छेड़खानी करने वाले युवक को पहले समझाने की कोशिश की, लेकिन बात बढ़ गई और मारपीट शुरू हो गई. इतने में ही छेड़खानी करने वाले इतने में ही छेड़खानी करने वाले की पगड़ी खुल गई और पता चला कि वह सरदार नहीं है. जब पकड़कर पूछताछ की तो पता चला कि वो कोई अब्दुल मियाँ थे, जो सरदार बनकर अपनी मज़हबी खेती करने के चक्कर में थे. चैनल ने अपनी एंकर के साथ हुई छेड़खानी की ख़बर दबा दी, क्योंकि आरोपी मज़हब विशेष से था, असे मेसेज व्हायरल करून अनेकांनी या पत्रकार महिलेचे नाव त्यात वापरले होते.

Advertisement

स्वयंसेवक, दिलीप पांड्ये, मिडिया माफिया, तथाकथित सेक्युलर, राहुल हिंदुस्तानी यांच्यासह अनेक फेसबुक पेजवर व खात्यावर ही माहिती प्रसिद्ध झाली. हजारो लोकांनी ही खोटी माहिती बातमी समजून शेअर केली. त्याद्वारे मुस्लीम समाजातील तरुणाने असे कृत्य केल्याचे म्हणण्याचा प्रयत्न होता. मात्र, ही बातमी व घटना बोगस असल्याचे स्पष्ट झालेले आहे.

Advertisement

स्त्रोत : आजतक की पत्रकार के साथ ट्रैक्टर रैली में बदसलूकी की फ़र्ज़ी कहानी की गयी शेयर – Alt News

Advertisement

संपादन : सचिन मोहन चोभे

Advertisement

कृषीरंग | ताज्या बातम्यांसाठी फॉलो करा www.krushirang.com

Advertisement

| वेबसाईट | फेसबुक पेज | जिओ न्यूज एक्स्प्रेस | गुगल न्यूज | AMP | ट्विटर | व्हाट्सऍप | टेलिग्राम | सिग्नल | 

Advertisement

मो. 9503219649 | ईमेल : krushirang@gmail.com

Advertisement

Advertisement

Leave a Reply